Whats new

भारत और नेपाल के बीच पेट्रोलियम पाइपलाइन के निर्माण के समझौते को मंजूरी

india nepal pipeline  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने रक्सौल (भारत) से एमलेखगंज (नेपाल) तक पेट्रोलियम उत्पादों की आपूर्ति हेतु पाइप लाइन के निर्माण के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए जाने को मंजूरी दी. यह समझौता ज्ञापन तेल और गैस के क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग को बढ़ावा देगा और नेपाल को पेट्रोलियम उत्पादों की दीर्घकालिक आपूर्ति सुरक्षित करेगा.

परियोजना की मुख्य विशेषताएं

केन्द्र सरकार की ओर से, इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (आईओसी) को पाइप लाइन के निर्माण का काम सौंपा गया है.

परियोजना को दो चरणों में पूरा किया जाएगा. पहले चरण में, भारत में रक्सौल से नेपाल में एमलेखगंज तक पेट्रोलियम उत्पाद पाइप लाइन का निर्माण किया जाएगा.

इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन परियोजना के पहले चरण के लिए 200 करोड़ रुपए की लागत वहन करेंगी.

इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन और नेपाल ऑयल कॉर्पोरेशन के बीच 15 वर्ष की एक लंबी अवधि का अनुबंध होगा.

पृष्ठभूमि

इससे पहले अगस्त 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नेपाल यात्रा के दौरान, नेपाल सरकार ने पेट्रोलियम पाइपलाइन के निर्माण के लिए प्रधानमंत्री मोदी से अनुरोध किया था. परिणामस्वरूप, इस पर केंद्र सरकार द्वारा सहमति व्यक्त की गई.