Whats new
Shopping Cart: Rs 0.00

You have no items in your shopping cart.

Subtotal: Rs 0.00

Welcome to

Allauddin

आईएसआईएस के आतंकवादियों ने पल्माइरा का बालशामिन मंदिर ध्वस्त किया

Temple of Baal-Shamin  

खबरों के अनुसार, 'आईएसआईएस के आतंकियों ने बालशामिन मंदिर में बड़ी मात्रा में विस्फोटक रखने के बाद उसे उड़ा दिया जिससे मंदिर को काफी नुकसान हुआ है. सीरिया के पुरातत्व प्रमुख के अनुसार, मंदिर को विस्फोटक से उड़ा दिया गया. सीरिया में मानवाधिकार उल्लंघन के मामलों पर नज़र रखने वाली ब्रिटेन की एक संस्था ने भी मंदिर के नष्ट होने की पुष्ट की.

बालशामिन के बारे में
बालशामिन मंदिर का निर्माण 17वीं सदी में हुआ था और रोम के सम्राट हादरियान ने 130 ईसवी में इसका प्रचार प्रसार किया था.आईएसआईएस आतंकवादियों ने 21 मई 2015 को सीरिया के प्राचीन शहर पल्माइरा पर पूर्ण नियंत्रण कर लिया था. यूनेस्को के वैश्विक धरोहर स्थल के रूप में सूचीबद्ध पल्माइरा को 'रेगिस्तान का मोती' कहा जाता है. इस जगह को लंबे समय से संरक्षित कर रखा गया था. पल्माइरा शहर प्राचीन विश्व के सबसे महत्वपूर्ण सांस्कृति केंद्रों में से एक माना जाता है. पल्माइरा 2000 वर्ष पुराना रोमन शहर है, जिसे यूनेस्को ने विश्व धरोहर घोषित किया है.

पल्माइरा का बालशामिन मंदिर :
बालशामिन प्राचीन सीरियाई शहर पाल्मायरा के दो सर्वोच्च देवताओं में से एक थे. 'इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया' (आईएसआईएस) के आतंकवादियों ने सीरिया में प्राचीन मंदिर 'बालशामिन' मंदिर को नष्ट कर दिया.