Whats new

एंजेला मर्केल बनीं TIME पर्सन ऑफ द ईयर 2015

  angela

प्रतिष्ठित बिजनेस मैगजीन 'टाइम' ने जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल को साल 2015 का पर्सन ऑफ द ईयर चुना है।. साल 1999 में टाइम की ओर से 'मैन ऑफ द ईयर' टाइटल को बदलकर 'पर्सन ऑफ द ईयर' किए जाने के बाद एंजेला मर्केल यह सम्मान पाने वाली पहली महिला हैं. इससे पहले किसी एकल महिला को यह खिताब नहीं दिया गया, जबकि समूह को यह टाइटल दिया गया, जिसमें महिलाएं शामिल रही हैं। गौरतलब है कि 'टाइम' ने इस साल ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ के लिए जिन अंतिम आठ दावेदारों का चुनाव किया, उनमें इस्लामिक स्टेट का सरगना अबू बकर अल-बगदादी और अमेरिका में रिपब्लिकन पार्टी की ओर से राष्ट्रपतिपद का उम्मीदवार बनने के अकांक्षी डोनाल्ड ट्रम्प भी शामिल थे। शुरुआती 58 दावेदारों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमुख मुकेश अंबानी और गूगल के भारतीय मूल के सीईओ सुंदर पिचाई के नाम भी शामिल थे।

जर्मनी में चांसलर होने के मायने
जर्मनी में चांसलर सरकार का चीफ होता है। मतलब, वहां के चांसलर के पास सभी तरह की पॉलिसी बनाने के लिए गाइडलाइन तय करने का अधिकार होता है। वह कैबिनेट का मेंबर होता है। जर्मनी के चांसलर की तुलना भारत के प्रधानमंत्री की पोस्ट से की जा सकती है।

ये भी रहे रनर-अप
- बगदादी के अलावा यूएस प्रेसिडेंशियल इलेक्शन में रिपब्लिकन कैंडिडेट की दौड़ में सबसे आगे चल रहे डोनाल्ड ट्रम्प, अफ्रीकी-अमेरिकी लोगों से होने वाली गैर-बराबरी के खिलाफ आवाज उठाने वाले कैम्पेन 'ब्लैक लाइव्स मैटर' के एक्टिविस्ट्स और ईरान के प्रेसिडेंट हसन रूहानी रनर-अप रहे।
- इनके अलावा टॉप-8 में रूस के प्रेसिडेंट व्लादिमीर पुतिन, एलजीबीटी एक्टिविस्ट केटलिन जेनर, कैब चलाने वाली कंपनी ऊबर के सीईओ ट्रैविस कालनिक भी शामिल रहे।

बगदादी क्यों रहा रनरअप?
मैगजीन ने अबु बक्र अल बगदादी के बारे में लिखा, "आईएसआईएस के चीफ के तौर पर उसने अपने लोगों को इस्लामिक स्टेट (इराक और सीरिया) में लड़ने और ट्यूनीशिया व फ्रांस जैसे देशों में हमले के लिए प्रेरित किया है।

29 साल बाद कोई महिला बनी पर्सन ऑफ द ईयर
- एंगेला मर्केल से पहले 1986 में फिलीपींस की पहली महिला प्रेसिडेंट कोराजन एक्वीनो को टाइम पर्सन ऑफ द ईयर चुना गया था। - एक्वीनो से भी पहले ब्रिटेन की क्वीन एलिजाबेथ-2 (1952) और विंडसर की राजकुमारी वैलीज सिम्प्सन (1936) भी पर्सन ऑफ द ईयर रह चुकी हैं।

रेस में ये नाम भी थे
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
* अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा
* फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद
* चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग
* अमेरिका की पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन
* पाकिस्तान की नोबेल अवॉर्ड विनर मलाला यूसुफजई
* इलेक्ट्रॉनिक कार बनाने वाली कंपनी टेस्ला के हेड एलॉन मुश्क
* एप्पल के सीईओ टिम कुक
* पोप फ्रांसिस
* फेसबुक के फाउंडर मार्क जुकरबर्ग

कब से हुई खिताब की शुरुआत?
> 1923 में टाइम ने 'पर्सन ऑफ द ईयर' चुनने की शुरुआत की। > 1927 में मैगजीन का न्यूयॉर्क से छपना शुरू हुआ। > 1998 में पहली बार इस खिताब के लिए ऑनलाइन पोलिंग शुरू हुई।

Next >>