Whats new

जापान के साथ न्यूक्लियर डील पर करार, बुलेट ट्रेन चलेगी

 India-Japan

भारत और जापान ने कई तकनीकी और कानूनी मुद्दों को सुलझाते हुए असैन्य परमाणु करार के समझौते पर दस्तख्त कर दिए।. परमाणु मामलों पर जापान की संवेदनशीलता के मद्देनजर इस समझौते को भारत और जापान के बीच तेजी से गहरे होते सामरिक रिश्तों के तौर पर देखा जा रहा है। इसके साथ ही पीएम मोदी की प्रिय बुलेट ट्रेन परियोजना को जमीन पर उतारने के लिए भी जापान ने हामी भर दी। दोनों देशों ने इन दोनों अहम समझौतों के अलावा रक्षा, पर्यटन, मैन्यूफैक्चरिंग और इन्फ्रास्ट्र्क्चर सेक्टर में सहयोग बढ़ाने का भी करार किया।

जापान के साथ असैन्य परमाणु करार इसलिए बेहद मायने रखता है कि मनमोहन सिंह के कार्यकाल से ही दोनों देशों के बीच इसको लेकर बातचीत चल रही थी। पिछले साल पीएम मोदी के जापान दौरे के वक्त भी इस करार के होने की चर्चा थी।मगर जापान में परमाणु करार को लेकर कडे़ अंदरूनी कानून के कारण इस समझौते में लंबा वक्त लगा है। भारत दौरे पर आए जापान के पीएम शिंजो अबे हैदराबाद हाउस में शनिवार को प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता के बाद पीएम मोदी के साथ मिलकर इस ऐतिहासिक फैसले को अंजाम दिया।असैन्य परमाणु करार के अलावा जापान ने भारत में बुलेट ट्रेन के सपने को साकार करने के लिए भी बड़ा कदम बढ़ाया है। उसने मुंबई-अहमदाबाद के बीच 98,000 करोड़ रुपये की लागत से शुरू होने वाली बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए 81 प्रतिशत धन मुहैया कराने का एलान किया है।

Next >>