Whats new

आतंकवाद के विरुद्ध सऊदी अरब ने की 34 देशों के गठबंधन की घोषणा

  UAE

सऊदी अरब की सरकार ने 16 दिसम्बर 2015 को आतंकवाद से लड़ने के लिए एक सैन्य गठबंधन के गठन की घोषणा की है।इस गठबंधन में शामिल होने वाले 34 देशों में मुख्य रूप से मुस्लिम देश शामिल हैं।. इस गठबंधन का संचालन-केंद्र सऊदी अरब की राजधानी रियाद में स्थापित किया जाएगा।इस गठबंधन में एशिया, अफ्रीका और अरब देश शमिल हैं परन्तु सऊदी अरब का मुख्य प्रतिद्वंदी इरान इस गठबंधन में शामिल नहीं है।यह कदम सऊदी अरब द्वारा ऐसे समय में उठाया गया है जब वैश्विक समुदाय द्वारा खाड़ी देशों से आतंकवाद के विरूद्ध एकत्र होकर लड़ने का दबाव है।

यह गठबंधन इराक, सीरिया, लीबिया, मिस्र और अफगानिस्तान में सक्रीय तंकवादी संगठनों के खिलाफ कार्य करेगा। इस गठबंधन में पाकिस्तान, तुर्की, मिस्र और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) जैसे देश शमिल होंगे।इसके अतिरिक्त एशिया से मालदीव, बांग्लादेश और मलेशिया ने भी गठबंधन का हिस्सा बनने के प्रति प्रतिबद्धता प्रकट की है।पश्चिमी अफ्रीकी देश बेनिन जो की एक गैर मुस्लिम बाहुल्य देश है, भी इस गठबन्धन का हिस्सा है।विदित हो आतंकवाद से जूझ रहे देश इराक, अफगानिस्तान और सीरिया इस गठबंधन का हिस्सा नहीं है।

गठबंधन के 34 सदस्यों की सूची इस प्रकार है - सऊदी अरब, बहरीन, बांग्लादेश, बेनिन, चाड, कोमोरोस, जिबूती, मिस्र, गैबॉन, गिनी, आइवरी कोस्ट, जॉर्डन, कुवैत, लेबनान, लीबिया, मलेशिया, मालदीव, माली, मोरक्को, मॉरिटानिया, नाइजर, नाइजीरिया, पाकिस्तान, फिलीस्तीन, कतर, सेनेगल, सियरा लियोन, सोमालिया, सूडान, टोगो, ट्यूनीशिया, तुर्की, संयुक्त अरब अमीरात और यमन।इसके अतिरिक्त इंडोनेशिया ने भी इस गठबंधन का सदस्य बनने की इक्षा प्रकट की है।

Next >>