Whats new

16 साल का अपराधी माना जाएगा बालिग; जुवेनाईल जस्टिस बिल पास

 parliament

निर्भया गैंगरेप कांड के दोषी नाबालिग की रिहाई के बाद आखिरकार जुवेनाइल जस्टिस बिल को राज्यसभा से पास कर दिया गया।. अब जघन्य अपराधों में नाबालिग की उम्र 18 से घटा कर 16 वर्ष कर दी गई है। इस बिल के पास होने से अब ऐसे अपराध के केस में नाबालिगों पर भी बालिग की तरह केस चलेगा।

इससे पहले चर्चा के दौरान केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने जुवेनाइल द्वारा कई जघन्य अपराधों की फेहरिस्त गिनाई और इस बिल को पास करने की अपील की। हालांकि सीपीआई द्वारा बिल को सिलेक्ट कमिटी में भेजने का प्रस्ताव खारिज होने पर पार्टी सांसदों ने वॉकआउट किया।

राज्यसभा में बिल पर कई सदस्यों ने विचार और अपनी शंकाए रखीं। जिसके बाद महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने उन पर जवाब दिए। जवाब के बाद वोटिंग की गई। उच्च सदन में बिल पर चर्चा के दौरान निर्भया के माता-पिता भी मौजूद रहे। राज्यसभा की दर्शक दीर्घा खचाखच भरी थी और लोग बेसब्री से बिल पास होने का इंतजार कर रहे थे। बिल के समर्थन में कांग्रेस, टीएमसी, टीडीपी, शिवसेना जैसी पार्टियां थीं। वहीं बिल के विरोध में इनेलो, जद यू, और सीपीएम के नेता थे।

Next >>