Whats new

विराट कोहली आईपीएल के सबसे महंगे खिलाड़ी

 virat

भारतीय टीम के टेस्ट कप्तान विराट कोहली 15 करोड़ रुपये के साथ इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) टी-20 के सबसे महंगे खिलाड़ी बन गए हैं।. आईपीएल ने खिलाड़ियों के मूल वेतन के आंकड़े जारी किए। विराट बेंगलुरु टीम के आइकन खिलाड़ी हैं और टीम के सैलरी पर्स से वह 12.5 करोड़ रुपये का भुगतान पाते हैं। मगर, टीम उन्हें वास्तविक रूप में 15 करोड़ रुपये का भुगतान करती है। इस लिहाज से विराट इस लीग के सबसे मंहगे खिलाड़ी बने।

युवी को पीछे छोड़ा

विराट ने सबसे महंगा खिलाड़ी होने का तमगा युवराज सिंह को पीछे छोड़कर हासिल किया। युवराज आईपीएल के आठवें सत्र में 16 करोड़ रुपये की कीमत के साथ सबसे मंहगे खिलाड़ी थे। उन्हें दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम ने खरीदा था, टीम ने उन्हें नौवें सत्र के लिए रिलीज कर दिया है। युवराज नए सत्र में अब खिलाड़ियों की नीलामी में उतरेंगे।

धौनी दूसरे स्थान पर

वनडे टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी आईपीएल के दूसरे सबसे मंहगे खिलाड़ी हैं। निलंबित फ्रेंचाइजी चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान धौनी को उनकी टीम 12.50 करोड़ भुगतान करती थी। आईपीएल 2016 सीजन के लिए धौनी को पुणे की टीम ने भी 12.50 करोड़ रुपये की कीमत पर ही खरीदा है।

इन्हें भी ज्यादा पैसे

बेंगलुरु की टीम विराट के अलावा अपने धुरंधर कैरेबियाई बल्लेबाज क्रिस गेल को पर्स कटौती से ज्यादा का भुगतान करती है। मुंबई इंडियंस की टीम भी हरभजन सिंह, लसित मलिंगा और अंबाती रायडु को पर्स कटौती से ज्यादा का भुगतान करती है। बेंगलुरु के सैलरी पर्स से गेल के लिए 7.50 करोड़ रुपये कटते हैं जबकि उन्हें 8.40 करोड़ रुपये का भुगतान किया जाता है। इसी तरह हरभजन को 5.50 करोड़ के मुकाबले आठ करोड़, मलिंगा को 7.50 करोड़ के मुकाबले 8.10 करोड़ और रायडू को चार करोड़ के मुकाबले छह करोड़ रुपये दिए जाते हैं।

पैसे कटते भी हैं

कुछ खिलाड़ियों को पर्स कटौती से ज्यादा पैसा मिलता है। मगर, कई खिलाड़ियों को भारी कटौती भी झेलनी पड़ती है। किंग्स इलेवन पंजाब टीम के मनन बोरा के लिए पर्स कटौती चार करोड़ है लेकिन उन्हें मिलते सिर्फ 35 लाख रुपये हैं। कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान गौतम गंभीर को 12.50 करोड़ की पर्स कटौती के मुकाबले 10 करोड़, मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा को 12.50 करोड़ के मुकाबले 11.50 करोड़ और पंजाब के डेविड मिलर को 12.50 करोड़ की पर्स कटौती के मुकाबले सिर्फ पांच करोड़ रुपये मिलते हैं।

Next >>