Whats new
Shopping Cart: Rs 0.00

You have no items in your shopping cart.

Subtotal: Rs 0.00

Welcome to www.allauddin.co.in

Allauddin

चालीसगांव के विजय चौधरी ने जीता ‘महाराष्ट्र केसरी’ का खिताब

 KUSHTI

चालीसगांव तहसील के सायगांव निवासी पहलवान विजय चौधरी ने कुश्ती प्रेमियों की उपस्थिति में अपने प्रतिस्पर्धी विक्रांत जाधव को पटखनी देते हुए प्रतिष्ठित 'महाराष्ट्र केसरी' का खिताब अपने नाम किया। उल्लेखनीय है, की यह उनका दुसरा खिताब है।. अहमदनगर के वाडिया पार्क में 'महाराष्ट्र केसरी' के लिए मैट पर खेले गए फाइनल मुकाबले में विजय चौधरी और सचिन येलभर ने खिताब के लिए जोरदार दम दिखाया था। छह मिनिटों के समय में सिर्फ आखरी ३० सेकंद में अपना कौशल्य दिखाते हुए विक्रांत जाधव को हराकर चालीसगांव के विजय चौधरीने महाराष्ट्र केसरी अपने नाम किया। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की ओर से चौधरी को महाराष्ट्र केसरी का खिताब, एक लाख की राशि, चांदी की गदा दी गई। उपविजेता मुंबई के विक्रांत जाधव को पचास हजार का पुरस्कार देकर सम्मान दिया गया।

लक्ष्मण वडार के बाद जलगावचा द्वितीय डबल केसरी
रोहित पटेल का शिष्य विजय डबल केसरी खिताब लेनेवाला जलगाव का दुसरा पहलवान बना, इससे पहले लक्ष्मण वडारने यह कमाल किया था।

सोलापूर को मिला सांघिक विजय
सोलापूर विभाग के पहलवानों में मिट्टी विभाग में उत्कृष्ट प्रतिभा के बल पर सोलापूर विभागने १७ गुणों से सांघिक विजय प्राप्त की। पुणे विभाग १३ गुणों से उपविजेता बना, तो लातुर विभाग १० गुणों से तृतीय स्थान पर था।

८६ किलो में दत्ता नरळे को विजेतापद
८६ किलो मिट्टी प्रकार में सोलापूर के दत्ता नरळेने बीड के नासीर सय्यद को १०-० गुणों से पराजित कर सुवर्णपदक हासिल किया। सांगली के हर्षवर्धन थोरात को कांस्य पर समाधान मानना पडा।

अहमदनगर के विक्रम शेटेने कमाया सुवर्ण
९७ किलो वजन गट मे अहमदनगर के विक्रम शेटे इन्होंने अनिरुद्ध पाटील को पराजित कर सुवर्णपदक प्राप्त किया।

अब महाराष्ट्र केसरी होंगे पोलिस अधिकारी
कुस्ती प्रकार को राजमान्यता प्रदान करने के लिए प्रयत्नरत रहने का, एवं महाराष्ट्र केसरी को पोलिस विभाग में नोकरी देने की घोषणा मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीसने की।

ऐसे है महाराष्ट्र केसरी के विजयी पहलवान
1961- दिनकर पाटील, 1964, 65 - गणपत खेडकर, 1969, 70 - दादा चौगुले, 1972, 73- लक्ष्मण वडार, 1976- हिरामण बंकर, 1980- इस्माईल शेख, 1992- अप्पालाल शेख, 1993 - उदयराज यादव, 1994- संजय पाटील, 1995- शिवाजी केकन, 1997- अशोक शिर्के, 1998- गोरख सिरख, 2000- विनोद चौगुले, 2001- राहुल कानभोर, 2002- मुन्नालाल शेख, 2003- चंद्रहास निमगिरे, 2005- सईद बिन अली कार्दुस, 2006- अमोल बुचडे, 2007-8- चंद्रहार पाटील, 2009- विजय बनकर, 2010- समाधान घोडके, 2011-12-13 - नरसिंग यादव, 2014,16 - विजय चौधरी