Whats new

कनाडा की डिफेंस मिनिट्री को संभालेगा एक इंडियन

bardish

अफगानिस्तान में जंग लड़ चुके हरजीत बने डिफेंस मिनिस्टर, बंदिश भी बनीं मंत्री कनाडा की नई सरकार में चार भारतीय मूल के पंजाबियों को मंत्री बनाया गया है. शपथ लेने वाले कनाडा के नए प्रधानमंत्री जस्टिन टरूडो ने अपनी कैबिनेट का एलान किया. कनाडा की सेना में रहते हुए अफगानिस्तान जैसे देशों में जंग लड़ चुके सिख लेफ्टिनेंट कर्नल हरजीत सज्जन को डिफेंस मिनिस्टर का जिम्मा सौंपा गया है. पंजाबी मूल की 6 महिला सांसदों में से सिर्फ 34 साल की बंदिश चग्गर को भी मंत्री बनाया गया है.

कनाडा सरकार में किस भारतीय को क्या मिला?
चौथी बार सांसद बने नवदीप बैंस को इनोवेशन, साइंस एंड इकोनॉमिक डेवलपमेंट मिनिस्ट्री सौंपी गई है. पिछली सरकार में मंत्री रहे टिम उप्पल को हराने वाले अमरजीत सोही को इंफ्रास्ट्रक्चर मिनिस्ट्री दी गई है. सोही कभी ड्राइवर रहे हैं. उन्हें 1980 में भारत में दो साल की जेल भी हो चुकी है. बंदिश चग्गर को स्मॉल बिजनेस एंड टूरिज्म मंत्री बनाया गया हैं. बता दें कि चग्गर सिर्फ 34 साल की हैं. पंजाबी मूल की 6 महिला सांसदों में से वह अकेली ही मंत्री बनने में सफल हुई हैं. इस बार चुनावों में जीतकर संसद पहुंचे 20 पंजाबी सांसदों में से 18 लिबरल पार्टी से हैं. इनमें 16 पंजाबी मूल के हैं.

कौन हैं कनाडा के डिफेंस मिनिस्टर?
होशियारपुर के हरजीत सज्जन वैंकूवर से एमपी बने हैं. वे कनाडाई सेना के कई कैंपेन में अहम रोल निभा चुके हैं. वह वैंकुवर पुलिस डिपार्टमेंट में 11 साल तक रहे हैं. गैंग क्राइम यूनिट में बतौर जासूस भी काम कर चुके हैं. 2011 में वे पहले ऐसे सिख बने थे जिन्हें कनाडा रेजीमेंट को कमांड करने का मौका मिला था. सज्जन अफगानिस्तान और बोसनिया में दो बार स्पेशल एडवाइजर के तौर पर भी अपना रोल निभा चुके हैं. मंत्री बनते ही उन पर बड़ा दायित्व है. इराक में कनाडा सेना का ऑपरेशन खत्म करने की बात प्रचार में की जा चुकी है.