Whats new

राष्ट्रपति ने किया दिल्ली में विश्व व्यापार मेले का उद्घाटन

president

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने दिल्ली के प्रगति मैदान में विश्व व्यापार मेले का उद्घाटन किया . विश्व व्यापार मेला इस बार 'मेक इन इंडिया' के रंग से सराबोर नजर आएगा. मेले में स्मार्ट सिटी, मॉडल गांव, डिजिटल इंडिया, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ व जन-धन समेत करीब 10 योजनाओं का जिक्र होगा.
इस बार मेले में 10 से 15 लाख देशी-विदेशी लोगों के पहुंचने का अनुमान है. विश्व व्यापार मेले में अफगानिस्तान को साझीदार देश, बांग्लादेश को फोकस देश व गोवा और झारखंड को साझीदार राज्य बनाया गया हैI मध्य प्रदेश को फोकस राज्य का दर्जा दिया गया हैI
इस मेले में 7000 से भी अधिक भारतीय एवं विदेशी फर्म्स भाग ले रही हैंI इस बार स्कूली बच्चे भी बिजनेस के दिनों में यानी 14 से 18 नवंबर के बीच भी सामान्य टिकटों पर मेले में प्रवेश पा सकते हैंI बच्चों के लिए इन दिनों में भी शुल्क 30 से 50 रुपये के बीच होगाI इस वर्ष सांस्कृतिक कार्यक्रम 19 नवंबर के बजाय मेले की शुरुआत से ही आयोजित किए जाएंगेI चुनौतीपूर्ण वैश्विक हालात में भी भारतीय अर्थव्यवस्था के मजबूत प्रदर्शन का जिक्र करते हुये राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि अगले दो दशक में इसमें 10 हजार अरब डालर की अर्थव्यवस्था बनने की क्षमता हैI राष्ट्रपति ने प्रगति मैदान में 35वें भारतीय अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला - 2015 (आईआईटीएफ) का उद्घाटन करते हुये कहा कि घरेलू स्तर पर ‘मेक इन इंडिया’ अभियान के साथ साथ विनिर्माण पर जोर दिये जाने की जरूरत हैI
उन्होंने कहा कि इसके साथ ही एशिया, अफ्रीका और लेटिन अमेरिकी देशों में नये निर्यात बाजारों पर ध्यान देते हुये बाहरी परिवेश से उत्पन्न चुनौती का सामाना किया जा सकता हैI प्रणब मुखर्जी ने कहा, ‘हम 2,100 अरब डालर की अर्थव्यवस्था हैं और यदि विनिर्माण और नवप्रवर्तन को प्रोत्साहन दिया जाता है तो अगले दो दशक में हम 10 हजार अरब डालर की अर्थव्यवस्था बन सकते हैंI’ उन्होंने कहा, ‘पिछले कुछ वषोर्ं के दौरान बने चुनौतीपूर्ण वैश्विक आर्थिक परिदृश्य का मुकाबला करने में हमारी अर्थव्यवस्था सक्षम रही हैI दुनिया की कई प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में छाई आर्थिक सुस्ती से भारत काफी हद तक बचा रहाI’/span>