Whats new
Shopping Cart: Rs 0.00

You have no items in your shopping cart.

Subtotal: Rs 0.00

Welcome to

Allauddin

‘उमरिका’ ने जीता इंटरनेशनल ऑफ फिल्म क्रिटिक्स अवार्ड

umarika

प्रशांत नायर द्वारा निर्देशित भारतीय फिल्म ‘उमरिका’ ने 37 वें काहिरा इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में इंटरनेशनल ऑफ फिल्म क्रिटिक्स का पुरस्कार जीत लिया है ।. पेरिस निवासी निर्देशक नायर की यह दूसरी फिल्म है । इससे पहले वर्ष 2012 में उनकी फिल्म ‘दिल्ली इन ए डे’ आई थी। काहिरा में दो सदस्यीय निर्णायक मंडल ने सिर्फ इस फिल्म को ही पुरस्कार के लिये चुना। समापन समारोह का आयोजन काहिरा ओपेरा हाउस में किया गया था।

ग्रामीण पृष्ठभूमि पर आधारित इस फिल्म में लापता बेटे के खोज की कहानी है। फिल्म ‘उमरिका’ काहिरा फेस्टिवल में 16 प्रतिस्पर्धी फिल्मों में शामिल थी। सूरज शर्मा, स्मिता तांबे और आदिल हुसैन अभिनित यह भारत की एकमात्र फिल्म थी जिसे 10-20 नवंबर तक आयोजित काहिरा फिल्म फेस्टिवल के लिए प्रवेश की अनुमति दी गयी। यह फिल्म 1970 के दशक के अंत की पृष्ठभूमि पर आधारित है जिसमें एक युवक अमेरिका चला जाता है। वह वहां से अपने घर पत्र लिखता है जिससे सारा गांव प्रेरित होता है लेकिन एक दिन रहस्यमय तरीके से पत्र आना बंद हो जाता है।इस फेस्टिवल में जोनास कारपिगनानो की फिल्म ‘मेडीटेरेनियन’ को बेस्ट फिल्म का गोल्डन पिरामिड वार्ड दिया गया। बेस्ट डाइरेक्टर के स्पेशल ज्यूरी प्राइज के लिए सिल्वर पिरामिड का पुरस्कार आइसलैंड के फिल्म निर्माता डगुर करी को फिल्म ‘वर्जिन माउंटेन’ के लिए दिया गया। बेस्ट सेकंड वर्क ऑफ डाइरेक्टर का ब्रांज पिरामिड पुरस्कार अर्जेंटीना के निर्देशक सेंटियागो मित्रे को फिल्म ‘पौलिना’ के लिये दिया गया।

Next >>