Whats new

रिश्वत के आरोप में विश्व शतरंज चैंपियन गैरी कास्पारोव पर लगा बैन

g-k

विश्व शतरंज महासंघ (फिडे) के आचार संहित आयोग ने विश्व चैंपियन गैरी कास्पारोव और महासचिव इग्नेटस लियोंग पर रिश्वत के लेने देन मामले में दोषी पाए जाने पर वैश्विक संस्था में किसी भी पद पर काबिज होने के लिए दो वर्ष का प्रतिबंध लगा दिया है.

फिडे ने जारी अपने बयान में कहा कि कास्पारोव और लियोग पर दो वर्ष के लिए प्रतिबंध लगाया गया है, जिसके कारण वे फिडे, उसके सदस्य संगठनों, उपमहाद्वीप संघों या फिर किसी मान्यता प्राप्त अंतरराष्ट्रीय संगठन में भी अगले दो वर्ष के लिये किसी पद पर काबिज नहीं हो सकेंगे. फिडे ने कहा कि कास्पारोव और लियोंग को नियमों के उल्लंघन का दोषी पाया गया है.

गत वर्ष अध्यक्ष पद के चुनाव से पहले बतौर उम्मीदवार कास्पारोव ने लियोंग को पांच लाख डालर की रिश्वत दी ताकि वह सिंगापुर का वोट खरीद सकें. हालांकि कास्पारोव चुनाव हार गये थे और किरसान इल्यूमझिनोव को दोबारा फिडे अध्यक्ष चुन लिया गया. लियोंग ने कास्पारोव से वादा किया था कि इस राशि के बदले में वह एशियाई शतरंज संघ का मत उन्हें दिलवा देंगे.