Whats new

कचरा बीनने वाले की बेटी बनी ब्यूटी क्वीन

beaquty

एक कचरा बीनने वाली महिला की बेटी कभी ब्यूटी क्वीन भी बन सकती है यह काफी हैरान करने वाली घटना है. लेकिन ऐसा हकीकत में हुआ है वो भी थाईलैंड में. यहां कचरा बीनने वाली एक महिला की बेटी ने ब्यूटी क्वीन का खिताब अपने नाम कर लिया है. ब्यूटी का खिताब जीतने के बाद उसने अपना ताज मां के कदमों में रख दिया और उनसे आशीर्वाद लिया. आपको बता दें कि भारतीय उपमहाद्वीप समेत एशिया के कई देशों में बड़ों के सम्मान में उनके पैरों पर झुककर आशीर्वाद लेने का रिवाज है. भावविभोर कर देने वाली इस घटना की तस्वीरें सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही हैं.

मां को कहा थैंक्यू
ब्यूटी क्वीन का खिताब जीतने वाली खानिट्टा मिन्ट फासिएंग महज 17 साल की है. उसने बीते महीने मिस अनसेंसर्ड न्यूज थाईलैंड 2015 का क्राउन जीता है. हाल ही में जब वह अपने होमटाउन लौटी तो अपने मां के पैरों में झुक गई और उन्हें थैंक्यू कहा. इस दौरान उसकी मां रास्ते में कचरा बीन रही थी. मिन्ट के सिर पर क्राउन था. उसने सेस (ब्यूटी कॉन्टेस्ट का रिबन) और हाई हील शूज पहने हुए थे. मिन्ट ने मीडिया से कहा, इसमें शर्म वाली कोई बात नहीं है. वह मेरी मां है. वह ईमानदारी से अपना काम कर रही है. उन्होंने बहुत मेहनत से मुझे पाला है. वह जो कुछ भी है, अपनी मां की बदौलत है. मिन्ट ने कहा कि वह जीवन के प्रति आशावादी है. वह भी अपने परिवार की छोटी-मोटी नौकरियां करके या मां की कचरा बीनने में मदद करती रहती है.

ऐसे पहुंची ब्यूटी कॉन्टेस्ट में
मिन्ट को किसी ने बताया था कि उसे थाईलैंड के इस ब्यूटी कॉन्टेस्ट में हिस्सा लेना चाहिए. लेकिन उसने यह नहीं सोचा था कि वह जीत जाएगी. मिन्ट ने बताया कि जब कॉन्टेस्ट के विजेता के नाम की घोषणा हुई तो उसे लगा जैसे वह कोई सपना देख रही हो. उसने कभी नहीं सोचा था कि उस जैसी आम लड़की ब्यूटी क्वीन बन सकती है. मिस अनसेंसर्ड न्यूज थाईलैंड 2015 कॉन्टेस्ट 25 सितंबर को हुआ था. इसमें महिला और ट्रांसजेंडर्स हिस्सा लेते हैं.