Whats new
Shopping Cart: Rs 0.00

You have no items in your shopping cart.

Subtotal: Rs 0.00

Welcome to www.allauddin.co.in

Allauddin

मंगल पर मानव मिशन : एक कदम और आगे बढ़ा अमेरिका

mars-orbiter-mission-art  

अमेरिका ने मंगल पर पहला मानव अभियान भेजने की दिशा में एक कदम और बढ़ा दिया है. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के इंजीनियरों ने न्यू ओरलियंस स्थित एसेंबली सेंटर में ओरियन क्रू मॉड्यूल (अंतरिक्षयात्रियों को सुदूर अंतरिक्ष में पहुंचाने वाला यान) के पहले दो हिस्सों को जोड़ा. इस मॉड्यूल को नासा के स्पेस लॉन्च सिस्टम (एसएलएस) रॉकेट के जरिए प्रक्षेपित किया जाएगा. नासा मुख्यालय स्थित एक्सप्लोरेशन सिस्टम्स डेवलपमेंट के डिप्टी एसोसिएट एडमिनिस्ट्रेटर बिल हिल ने कहा कि एक्सप्लोरेशन मिशन-1 की तैयारी के लिए वैज्ञानिक दिनरात काम कर रहे हैं. इस मिशन के तहत ओरियन और एसएलएस का परीक्षण किया जाएगा. उन्होंने कहा कि नासा मानव को सुदूर अंतरिक्ष में भेजने की दिशा में आगे बढ़ रहा है.
कैसा है मॉड्यूल:
ओरियन क्रू मॉड्यूल का ढ़ांचा एल्युमिनियम के सात खांचों से बना है, जिन्हें बेहद बारीकी से आपस में जोड़ा जाना है. ओरियन प्रोग्राम के मैनेजर मार्क गेयर का कहना है कि ओरियन की सभी प्रणालियों और उपप्रणालियों को ढांचे से जोड़ा जाना है. पहले दो हिस्सों को जोड़ा जा चुका है.
एसएलएस से जोड़कर होगा प्रक्षेपण:
नासा के लिए लॉकहीड मार्टिन मॉड्यूल बनाने का काम कर रहा है. आने वाले दिनों में ओरियन के दूसरे हिस्सों को जोड़ा जाएगा. मॉड्यूल के हिस्सों को जोड़े जाने के बाद इसे फ्लोरिडा स्थित केनेडी स्पेस सेंटर ले जाया जाएगा जहां इस पर दूसरी प्रणालियां जोड़ी जाएंगी. इसके बाद इस मॉड्यूल को एसएलएस से जोड़कर प्रक्षेपित किया जाएगा.