Whats new

6 लाख इंजीनियरिंग सीटों में कटौती करेगा AICTE

enginearing

AICTE इंजीनियरिंग कॉलेजों में खाली सीटों की लगातार बढ़ती संख्या पर लगाम लगाने जा रहा है जिसमें 6 लाख अंडरग्रेजुएट इंजीनियरिंग सीट्स घटाने का फैसला लिया गया है. AICTE के चेयरमैन अनिल सहस्त्रबुद्धे ने बताया कि, भारत में 16.7 लाख इंजीनियरिंग सीट्स को घटाकर 10 से 11 लाख तक लाना चाहते हैं. यह कदम छात्रों, कॉलेजों और कंपनियों सभी के लिए फायदेमंद साबित होगा और इंजीनियरिंग की स्थिति में सुधार होगा. इंजीनियरिंग सीटों में भारी कमी छात्रों के लिए चिंता का विषय जरूर है लेकिन शिक्षाविदों का विश्वास है कि इससे को समस्या नहीं होगी बल्कि इंजीनियरिंग की पढ़ाई की गुणवत्ता बढ़ेगी और इसमें सुधार आएगा.
AICTE के पूर्व चेयरमैन और IIT मद्रास के पूर्व डायरेक्टर आर. नटराजन ने बताया कि इंजीनियरिंग की सीटों में कमी की प्रक्रिया जल्द ही शुरू कर दी जाएगी. नटराजन ने बताया कि आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु के कई सरकारी व गैर सरकारी कॉलेजों ने खुद कहा है कि हर साल अलॉट की जाने वाली इंजीनियरिंग की सीटों में कमी का जानी चाहिए. सीटों की सप्लाई कॉलेजों की मौजूदा मांग से ज्यादा हो रही है.