Whats new

एमएच-17 से जुड़े संयुक्त राष्ट्र प्रस्ताव पर रूस का वीटो

missile attack  

रूस ने मलेशिया एयरलाइंस के विमान को गिराने के संदिग्धों के ख़िलाफ़ मुक़दमा चलाने के लिए अंतरराष्ट्रीय ट्राइब्यूनल बनाने की मांग वाले संयुक्त राष्ट्र प्रस्ताव पर वीटो कर दिया. वर्ष 2014 में मलेशिया एयरलाइंस के विमान को पूर्वी यूक्रेन के ऊपर मार गिराया गया था और इस पर सवार सभी 298 लोग मारे गए थे. इस संबंध में मलेशिया, नीदरलैंड्स, ऑस्ट्रेलिया, बेल्जियम और यूक्रेन की तरफ़ से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में ट्राब्यूनल बनाने संबंधी प्रस्ताव रखा गया था. प्रस्ताव में उन लोगों पर मुक़दमा चलाने के लिए ट्राइब्यूनल बनाने की बात कही गई है जिन पर विमान को मार गिराने का संदेह है. लेकिन रूस ने वीटो कर इसका रास्ता रोक दिया.

रूस ने इस अवसर पर कहा कि रुसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन इस प्रस्ताव को उचित नहीं मानते हैं. उन्होंने कहा कि इस मामले में नीदरलैंड्स के नेतृत्व में अलग हो रही जांच पूरी होने से पहले एक अंतरराष्ट्रीय ट्राब्यूनल का गठन सही नहीं होगा.

विदित हो कि मलेशिया एयरलाइंस की उड़ान संख्या एमएच17 को 17 जुलाई 2014 को पूर्वी यूक्रेन में विद्रोहियों के नियंत्रण वाले इलाके में मार गिराया गया. इस घटना में विमान पर सवार सभी लोग मारे गए जिनमें ज्यादातर डच नागरिक थे.

 

Next >>