Whats new

यूरोपियन पावरलिफ्टिंग में भारत को पांच स्वर्ण सहित नौ पदक

power lifting

कप्तान मुकेश सिंह की अगुवाई में भारतीय पावरलिफ्टरों ने यहां आयोजित यूरोपियन पावरलिफ्टिंग चैंपियनशिप में अपना दबदबा साबित करते हुये पांच स्वर्ण सहित कुल नौ पदक जीतकर देश का नाम रोशन कर दिया है. गत यूरोपियन और विश्व चैंपियन मुकेश ने प्रतियोगिता में 125 किग्रा वर्ग में कुल 720 किग्रा वजन उठाकर स्वर्ण पदक जीतने के अपने सिलसिले को बरकरार रखते हुये डैडलिफ्ट में स्वर्ण तथा बैंचप्रेस में रजत पदक जीता.  प्रतियोगिता में रजत पदक जीत चुके अनूप सिंह (67.5 किग्रा) ने डैडलिफ्ट में स्वर्ण कब्जाने के बाद बैंचप्रेस में भी स्वर्ण पदक अपने नाम किया. टीम के अन्य खिलाड़यों ने भी शानदार प्रदर्शन किया. अमनदीप सिंह (125 किग्रा जूनियर क्लास) ने रा-बैंचप्रेस में स्वर्ण पदक, कंवरदीप सिंह (110 किग्रा क्लास) ने ओपन रा-बैंचप्रेस में रजत तथा प्रभजोत सिंह (100 किग्रा क्लास) ने ओपन रा-बैंचप्रेस में रजत जीता.

मुकेश ने प्रतियोगिता में दो स्वर्ण और एक रजत जीता जबकि अनूप ने भी अपने कप्तान के नक्शेकदम पर चलते हुये दो स्वर्ण और एक रजत जीत लिया. भारत ने प्रतियोगिता में इस तरह पांच स्वर्ण और चार रजत सहित कुल नौ पदक जीते.

भारतीय टीम के मैनेजर एवं कोच द्रोणाचार्य अवार्डी भूपेन्दर धवन ने इस शानदार प्रदर्शन का श्रेय खिलाडियों के उत्साह और उनकी कड़ी मेहनत को दिया. नेशनल पावरलिफ्टर्स फेडरेशन के अध्यक्ष निर्मल साहा और महासचिव लियो पीटर ने भारतीय टीम तथा कोच भूपेन्द्र धवन को बधाई देते हुये उम्मीद जताई कि भारतीय खिलाड़ी इसी प्रकार का प्रदर्शन भविष्य में भी करते रहेंगे.

< < Prev Next >>